Primary Ka Master

कार्रवाई की जगह शिक्षकों को बचाते रहें पूर्व अधिकारी, पढ़िए पूरा मामला

कार्रवाई की जगह शिक्षकों को बचाते रहें पूर्व अधिकारी, पढ़िए पूरा मामला
Written by Ravi Singh

बेसिक शिक्षा विभाग basic shiksha vibhag के 9 शिक्षक-शिक्षिकाएं वर्षों से स्कूल school से गायब चल रहे हैं। पूरे प्रकरण में पूर्व में तैनात अधिकारियों की मिलीभगत के संकेत मिल रहे हैं। अधिकारी कार्रवाई करने की जगह इन शिक्षकों teachers को बचाते रहे।हिन्दुस्तान ने रविवार के अंक में ‘वर्षों से गायब 9 शिक्षक, कोई गया अमेरिका तो कोई घर बैठा’ खबर दी थी। 9 शिक्षकों teachers में से कोई वर्ष 2009 से स्कूल नहीं आया तो कोई 2011 से। मजे की बात यह है कि शिक्षक सिर्फ छुट्टी का प्रार्थना पत्र डाल कर के ही गायब होते रहे। जबकि उनकी छुट्टी स्वीकृत तक नहीं होती थी। इसके बाद भी अधिकारियों ने कार्रवाई नहीं की। जब-जब कोई शिकायत हुई तब नोटिस notice देकर इति श्री कर ली।

कार्रवाई की जगह शिक्षकों को बचाते रहें पूर्व अधिकारी, पढ़िए पूरा मामला

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आरोप तो यह भी है कि शिक्षकों teachers ने कार्रवाई से बचने के लिए पूर्व के अधिकारियों को पैसे भी दिए। इसमें ब्लॉक स्तर के अधिकारियों के साथ ही क्लर्क भी शामिल रहे। अवैतनिक अवकाश देने में भी अधिकारियों ने दरियादिली दिखाई। अब हिन्दुस्तान की खबर के बाद बीएसए BSA विनय कुमार ने नए सिरे से सभी शिक्षकों teachers की फाइल खुलवाने जा रहे हैं। माना जा रहा है कि पूर्व के अधिकारियों की तरह वो इन शिक्षकों को रियायत देने के मूड में नहीं दिख रहे हैं। ऐसे में जल्द ही इन शिक्षकों पर गाज गिर सकती है।

और यह पोस्ट भी पढ़े

👉 State Bank of India vacancy in 2022 :- भारतीय स्टेट बैंक में सर्कल स्थित अधिकारियों की निकली बम्पर भर्तियां, जल्दी करें आवेदन

👉 Aadhar card update 2022:-  ऐप के माध्यम से पता चलेगा आधार असली है या नकली, UIDAI के मोबाइल एप का पुलिस ने शुरू किया इस्तेमाल

👉 LIC New Policy:- LIC की नई पेंशन स्कीम लॉन्च, दो तरह से कर पाएंगे निवेश, और भी बहुत सारे फायदे

👉 Post office की नई पहल: बिना नेट बैंकिंग के खाताधारक देख सकेंगे अपने खाते का विवरण, जानें आसान तरीका

 

About the author

Ravi Singh

Leave a Comment

WhatsApp Group Join