Primary Ka Master

Dipawali tohpha: दीपावली Diwali पर केंद्रीय कर्मियों central personnel को होगा डबल फायदा, महंगाई भत्ते के साथ मिल सकती है ये बड़ी सौगात

Screenshot 20220907 133648 2
Written by Ravi Singh

दीपावली Diwali पर केंद्रीय कर्मियों central personnel को होगा डबल फायदा, महंगाई भत्ते के साथ मिल सकती है ये बड़ी सौगात

नई दिल्ली । केंद्र सरकार के कर्मियों और पेंशनरों को इस दीवाली पर डबल फायदा होने की उम्मीद है । पहली जुलाई से देय चार फीसदी महंगाई भत्ते की घोषणा के अलावा सरकारी मुलाजिमों को कोरोना संक्रमण के दौरान 18 माह का बकाया एरियर भी दिया जा सकता है । मौजूदा समय में 34 फीसदी की दर से महंगाई भत्ता मिल रहा है । अगर इसमें चार फीसदी की बढ़ोतरी होती है तो डीए / डीआर की दर 38 फीसदी हो जाएगी । इसके लिए केंद्रीय कर्मचारी संगठन , सरकार पर लगातार दबाव बनाए हुए हैं । महंगाई को लेकर विपक्ष भी केंद्र सरकार पर हमलावर है । इसके अलावा केंद्र सरकार के कर्मियों ने अब पुरानी पेंशन का मुद्दा भी उठा दिया है । इन परिस्थितियों में केंद्र सरकार अपने कर्मियों और पेंशनरों को डीए / डीआर व कोरोनाकाल के समय का 18 माह का एरियर देकर कुछ समय के लिए शांत कर सकती है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Screenshot 20220907 133648 2

आर्थिक संकट के कारण कर्मचारियों के वेतन या पेंशन को अस्थायी रूप से रोका जा सकता है । स्थिति में सुधार होने पर इसे कर्मचारियों को वापस देना होगा । ये कर्मियों का वैद्य अधिकार है । इनका भुगतान कानून के मुताबिक होना चाहिए ।

The government saved Rs 40000 crore like this:

सरकार ने ऐसे बचाए 40000 करोड़ रुपये:

में केंद्र सरकार ने 2020 के शुरू में यह घोषणा कर दी थी कि सरकारी कर्मियों को डीए / डीआर व दूसरे भत्ते नहीं मिलेंगे । जेसीएम के सदस्य सी . श्रीकुमार ने कहा , केंद्र सरकार ने कोविड- 19 की आड़ लेकर सरकारी कर्मियों और पेंशनरों के डीए / डीआर पर रोक लगा दी थी । केंद्र सरकार ने उस वक्त कर्मियों के 11 फीसदी डीए का भुगतान रोक कर 40000 करोड़ रुपये बचा लिए थे।केंद्रीय कर्मचारियों के 18 माह के एरियर के भुगतान को लेकर कर्मचारी संगठनों ने केंद्र सरकार को कई तरह के विकल्प सुझाए थे । इनमें एरियर arrears 11 per cent DA का एकमुश्त भुगतान करना भी शामिल था । स्टाफ साइड के सचिव शिव गोपाल मिश्रा व अन्य सदस्यों ने एरियर जारी करने को लेकर सरकार से यह भी कहा था कि अगर वह किसी दूसरे तरीके पर चर्चा करना चाहती है , तो कर्मचारी संगठन उसके लिए भी तैयार हैं । केंद्र सरकार ने कोरोनाकाल  corona period के बाद जब डीए देने की घोषणा की थी तो इस बात का उल्लेख किया था कि एक जनवरी 2020 से 30 जून 2021 तक डीए व डीआर DA and DR की दर 17 फीसदी ही मानी जाएगी

 

Allowance given at the rate of 28 per cent from July 2021:

जुलाई 2021 से 28 फीसदी के हिसाब से दिया गया भत्ता:

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा था , अब 28 फीसदी के हिसाब से महंगाई भत्ता मिलेगा । उस वक्त उन्होंने एरियर को लेकर कोई बात नहीं कही । केंद्रीय मंत्री की घोषणा का अर्थ यह था कि बढ़े हुए डीए की दर एक जुलाई 2021 से 28 फीसदी मान ली जाए । इसके अनुसार जून 2021 और जुलाई 2021 के बीच डीए में एकाएक 11 फीसदी वृद्धि हो गई , जबकि डेढ़ साल की अवधि में डीए की दरों में कोई वृद्धि दर्ज नहीं की गई । एक जनवरी 2020 से लेकर एक जुलाई 2021 तक डीए / डीआर फ्रीज कर दिया गया था । कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधियों ने जेसीएम की बैठक में एरियर के इस मुद्दे को उठाया था । स्टाफ साइड की तरफ से केंद्र सरकार को बता दिया गया था कि उसे कर्मियों के एरियर का भुगतान करना ही होगा । इसे लंबे समय तक नहीं रोका जा सकता ।

Read more 

👉 UP Cabinet Meeting:- योगी सरकार ने कैबिनेट की बैठक में 20 प्रस्तावों पर लगाई मुहर, जानिए फैसले

👉 Primary Ka Master:- बेसिक शिक्षा में नई स्क्रीनिंग कमेटी बनी,महानिदेशक स्कूल शिक्षा

 

About the author

Ravi Singh

Leave a Comment

WhatsApp Group Join