विधायक से उलझी प्रधानाध्यापिका

विधायक से उलझी प्रधानाध्यापिका

 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

मेरे विधानसभा क्षेत्र के पहले बूथ अरैल में रविवार को प्रधानमंत्री के मन की बात एवं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती का कार्यक्रम था। प्राथमिक विद्यालय अरैल की कार्यवाहक प्रधानाध्यापिका ने अभद्रता करते हुए कार्यक्रम का विरोध शुरु कर दिया। मैंने काफी समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं मानी। उन्होंने किस मानसिकता के तहत के यह किया नहीं पता।

Screenshot 20221224 044047

-पीयूष रंजन निषाद, विधायक करछना

 

नैनी, संवाददाता। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर संविलियन विद्यालय अरैल स्थित पंचायत भवन पर आयोजित सुशासन दिवस कार्यक्रम के दौरान स्कूल की प्रभारी प्रधानाध्यापिका कल्पना त्यागी करछना के विधायक पीयूष रंजन निषाद से उलझ गईं। प्रधानाध्यापिका ने उनकी अनुमति के बगैर स्कूल खोलकर कार्यक्रम करने पर आपत्ति जताई। विधायक ने इस अनुशासहीनता की सूचना बीएसए प्रवीण कुमार तिवारी को फोन पर दी और वीडियो भी भेजा।

 

जिसके बाद बीएसए ने वीडियो काल के माध्यम से उक्त घटना की पुष्टि की और जनप्रतिनिधि के साथ अभद्रता व दुर्व्यहार करने पर प्रभारी प्रधानाध्यापिका को निलंबित कर दिया। बीएसए के मुताबिक प्रभारी प्रधानाध्यापिका ने न केवल सरकारी कार्यक्रम में बाधा डाली बल्कि जनप्रतिनिधियों के साथ दुर्व्यवहार कर विभाग की छवि धूमिल की है। उनका यह कृत्य न केवल शिक्षक के कार्य एवं दायित्वों के प्रतिकूल है बल्कि सरकारी कर्मचारी आचरण नियमावली का भी उल्लंघन किया गया है।

 

इन गंभीर आरोपों के मद्देनजर प्रभारी प्रधानाध्यापिका को तत्काल प्रभाव से निलम्बित करते हुए ब्लॉक संसाधन केन्द्र फूलपुर से सम्बद्ध किया गया है। निलम्बन प्रकरण की जांच के लिए खंड शिक्षा अधिकारी फूलपुर विश्वनाथ प्रजापति को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है।

Leave a Comment

WhatsApp Group Join