एप सरल लेकिन शिक्षकों के लिए बेहद कठिन, सर्वर ठप होने से अपलोड नहीं कर पाए ओएमआर

एप सरल लेकिन शिक्षकों के लिए बेहद कठिन, सर्वर ठप होने से अपलोड नहीं कर पाए ओएमआर

लखनऊ। परिषदीय विद्यालयों के पहले निपुण असेसमेंट टेस्ट (एनएटी) में सरल एप ने शिक्षकों का कठिन टेस्ट लिया। शिक्षकों ने टेस्ट तो करा लिया लेकिन जब ओएमआर शीट को स्कैन करने का समय आया तो सर्वर जवाब दे गया। शिक्षक ओएमआर शीट को स्कैन कर एप पर अपलोड नहीं कर सके।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Screenshot 20221019 091940

निपुण भारत मिशन के तहत मंगलवार को जिले के सभी परिषदीय विद्यालयों के कक्षा एक से आठ तक के छात्रों का असेसमेंट हुआ। इकक्षा एक से तीन तक के छात्रों का केवल गणित व भाषा और कक्षा चार से आठ तक के बच्चों के सभी विषयों का टेस्ट लिया गया। कक्षा एक से तीन तक की ओएमआर शीट छात्रों की ओर से प्रश्नों के जवाब देने पर शिक्षकों ने भरे । कक्षा चार से आठ तक के बच्चों ने खुद ओएमआर शीट भरी। इसके बाद उसे सरल एप पर स्कैन कर अपलोड करना था। सर्वर ठप होने से शिक्षक इसे अपलोड नहीं कर पाए। शिक्षकों ने बताया कि सर्वर डाउन होने के चलते कई बार एप खुला ही नहीं। अगर खुलता तो ओएमआर शीट अपलोड नहीं हुई। शिक्षकों ने स्थान बदलकर भी प्रयास किया लेकिन अपलोड नहीं हुआ। उधर विभाग की ओर से बार-बार कहा जाता रहा कि अपलोड करने के बाद ही शिक्षकों को घर जाना है। अंत में जब सब हार गए तो शिक्षकों ने ओएमआर शीट बांट ली और अपने घर ले गए।

उधर कई शिक्षकों ने बताया कि उनके यहां पर प्रश्न पत्र कम थे, जिस वजह से एक प्रश्न पत्र से दो से तीन छात्रों का टेस्ट लिया। प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षित स्नातक एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष विनय कुमार सिंह ने बताया कि यह समस्या लखनऊ मंडल के सभी जिलों में रही। सभी विद्यालयों के शिक्षक ओएमआर शीट को अपलोड नहीं कर पाए। जबकि शिक्षकों को सख्त निर्देश दे दिए थे कि बिना अपलोड किए घर को जाना नहीं है। इस पर शिक्षकों ने आपत्ति भी जताई। बीएसए अरुण कुमार ने बताया कि जहां पर ओएमआर की स्कैनिंग कर अपलोड करने का कार्य पूरा नहीं हुआ है, वहां पर महानिदेशक विजय किरण आनंद ने कहा है कि घर पर अनिवार्य रूप से इस कार्य को पूर्ण कर लिया जाए।

Leave a Comment

WhatsApp Group Join