Primary Ka Master

Primary ka Master:- समकक्ष अर्हता के विवाद में फंसी BEO भर्ती

Screenshot 20220907 132852
Written by Ravi Singh

Primary ka Master:- समकक्ष अर्हता के विवाद में फंसी BEO भर्तीScreenshot 20220907 132852

 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रयागराज बेसिक शिक्षा में खंड शिक्षा अधिकारियों (बीईओ) के 55 पदों पर भर्ती होगी। भर्ती के लिए उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग को अधियाचन भेजा जा है, लेकिन आयोग से इस पर एक आपत्ति लगाई गई चुका कि पदों के लिए समकक्ष अर्हता स्पष्ट नहीं है। आपत्ति को दूर करने के लिए अधियाचन वापस किया गया है। वह आपत्ति दूर होने के बाद आयोग से भर्ती का विज्ञापन जारी किया जाएगा।खंड शिक्षा अधिकारियों के पदों पर तीन साल से भर्ती नहीं हुई है। 2019 में खंड शिक्षा अधिकारियों के 309 पदों पर भर्ती की गई थी। उसके बाद से अब भर्ती की तैयारी है। पिछले दिनों बेसिक शिक्षा निदेशालय से भर्ती के लिए उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) को 55 पदों का अधियाचन भेजा गया था। उस पर आयोग ने आपत्ति लगा दी। आयोग के अफसरों ने बताया कि हाई कोर्ट के निर्देशानुसार पदों की अर्हता में समकक्षता का निर्धारण विभाग करके भेजेगा। समकक्षता का निर्धारण आयोग नहीं करेगा। ऐसे मामले पहले कोर्ट में जा चुके हैं, इसलिए आयोग से आपत्ति लगाकर अधियाचन वापस किया गया है।

प्रयागराज । खंड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) की भर्ती समकक्ष अर्हता के विवाद में फंसी हुई है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) को बीईओ के 55 पदों का अधियाचन मिल चुका है, लेकिन विज्ञापन जारी करने से पहले आयोग अर्हता पर स्थिति स्पष्ट कर लेना चाहता है। इसके लिए शासन को पत्र लिखा गया है, जिसका जवाब अभी नहीं आया है।

इससे पूर्व वर्ष 2019 में बीईओ के 309 पदों पर भर्ती का विज्ञापन जारी किया गया था। उस वक्त समकक्ष अर्हता को लेकर कोई विवाद नहीं हुआ था और भर्ती पूरी करा ली गई थी। बाद में कुछ अन्य भर्ती परीक्षाओं में समकक्ष अर्हता के विवाद को लेकर न्यायालय में याचिका दाखिल की गई। कोर्ट ने आदेश दिया कि समकक्ष अर्हता को लेकर स्थित पूरी तरह से स्पष्ट किए जाने के बाद ही कोई भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाए।

‘कोर्ट के आदेश के अनुपालन में यूपीपीएससी ने शासन को पत्र भेजकर समकक्ष अर्हता पर स्थिति स्पष्ट करने के लिए दिशा-निर्देश मांगे। हैं। आयोग को अब तक कोई जवाब नहीं मिला है।

आयोग के सूत्रों का कहना है कि शासन स्तर से स्थिति स्पष्ट होने के बाद ही नया विज्ञापन जारी कर आवेदन मांगे जाएंगे। आयोग को बीईओ के 55 पदों का अधियाचन मिल चुका है।

About the author

Ravi Singh

Leave a Comment

WhatsApp Group Join