शिक्षक भर्ती (shikshak Bharti) की राह में रोड़े, आरक्षण को लेकर अभी तक स्थिति नहीं है स्पष्ट, अभ्यर्थी हो रहे परेशान

शिक्षक भर्ती (shikshak Bharti) की राह में रोड़े, आरक्षण को लेकर अभी तक स्थिति नहीं है स्पष्ट, अभ्यर्थी हो रहे परेशान

 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रयागराज। जूनियर हाईस्कूलों में शिक्षक भर्ती की राह में अभी भी कई रोड़े हैं। आरक्षण किस स्तर लागू किया जाए मेरिट विषयवार बने या राज्य स्तर पर, यह भी स्थिति साफ नहीं है। यही वजह है कि संशोधित परिणाम जारी होने के बाद भी भर्ती प्रक्रिया ठप पड़ी है। अभ्यर्थी कई बार शिक्षा निदेशालय और सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर चुके हैं।

 

Screenshot 20221224 044047

प्रदेश के 3049 जूनियर हाईस्कूलों में सहायक अध्यापक के 1504 और प्रधानाध्यापकों के 390 पदों पर भर्ती के

लिए 2021 में विज्ञापन आया था। नवंबर 2021 में लिखित परीक्षा का परिणाम जारी किया गया। इसमें गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए कुछ अभ्यर्थी कोर्ट चले गए। कोर्ट ने पुनर्मूल्यांकन कर संशोधित परिणाम जारी करने का आदेश दिया। इसके बाद सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी की और से पुनर्मूल्यांकन कर संशोधित परिणाम जारी किया गया। संशोधित परिणाम जारी होने के कई माह बाद भी भर्ती प्रक्रिया जहां देते हैं।

 

की तहां ठप पड़ी है।अभ्यर्थियों ने निदेशालय में किया प्रदर्शनः जूनियर हाईस्कूलों में शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों ने बृहस्पतिवार को शिक्षा निदेशालय में प्रदर्शन किया। अभ्यर्थियों का कहना है कि प्रक्रिया आगे न बढ़ने से उन्हें मानसिक और आर्थिक रूप से परेशान होना पड़ रहा है। प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे अभ्यर्थी चंद्र प्रकाश का कहना है कि कई बार निदेशालय में प्रदर्शन कर चुके हैं लेकिन भर्ती प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ रही है। प्रक्रिया बढ़ने का आश्वासन देते रहे.

Leave a Comment

WhatsApp Group Join