Primary ka Master : सरकारी स्कूल में खैनी दबाकर चटाई पर सो गए प्रिंसिपल,बच्चों से स्कूल में कराई जा रही मजदूरी, मिड-डे मील में भी हो रही धांधली

Primary ka Master : सरकारी स्कूल में खैनी दबाकर चटाई पर सो गए प्रिंसिपल,बच्चों से स्कूल में कराई जा रही मजदूरी, मिड-डे मील में भी हो रही धांधली

आगरा के खंदौली ब्लाक के कंपोजिट विद्यालय के हैरान कर देने वाले वीडियो सामने आए हैं। यहां प्रिंसिपल चटाई बिछा कर सो रहे हैं। बच्चों से न सिर्फ मजदूरी कार्रवाई जा रही है, बल्कि मिड डे मील के नाम पर उन्हें सड़ी हुई सब्जियां और पानी मिला दूध दिया जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है एक ही स्कूल में इतनी अव्यवस्थाएं उन्होंने आज तक नहीं देखी हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Vedeos देखे

👇👇
मामला खंदौली ब्लॉक के कंपोजिट विद्यालय खड़िहा का है। शनिवार की शाम यहां शिक्षकों की आपसी खींचतान के चलते बदइंतजामी के वीडियो सामने आए हैं। वीडियो के अनुसार स्कूल में प्रिंसिपल चटाई बिछा कर सोते हैं और चपरासी होते हुए भी राशन की बोरियां तक मासूम बच्चे उठा कर लाते हैं।

बदले में उन्हें कितनी शिक्षा मिली यह तो बताना मुश्किल है पर सड़ी हुई सब्जियां और पानी मिला दूध जरूर मिल जाता है। विद्यालय में 6 शिक्षक और 2 शिक्षामित्र तैनात हैं। इसके साथ ही रसोइया और चपरासी भी है। विद्यालय में 182 बच्चे पढ़ने आते हैं। स्कूल की जिम्मेदारी प्रधानाचार्य मोहन सिंह की है।

धूप में खड़े होकर भरते हैं पानी

स्कूल की समरसेबल खराब होने के कारण प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने आए छोटे-छोटे बच्चे पहले सीढ़ी लगाकर स्कूल की छत पर चढ़ते हैं और फिर सप्लाई के पानी का पाइप पकड़कर घंटों खड़े रहकर टंकी भरते हैं। टंकी में पानी भरने के बाद ही मिड डे मील बनना शुरू होता है।

सड़ी हुई सब्जी और पानी मिला दूध

विद्यालय में मिड डे मील के लिए कीड़े लगी सड़ी सब्जी का इस्तेमाल हो रहा है। मात्र 250 ग्राम तेल में सब्जी भी बन रही है और दाल में तड़का भी लग रहा है। बच्चों को पानी जैसी आधी कटोरी दाल मिल रही है और उसमें भी दो लोगों को खाने के निर्देश हैं। ऐसे खाने के लिए चपरासी होते हुए भी प्रिंसिपल की मौजूदगी में मिड डे मील के राशन की 50 किलो की बोरी को कई छोटे-छोटे बच्चे मिलकर राशन कोटेदार के यहां से उठाकर स्कूल की रसोई तक पहुंचा रहे हैं।

खैनी चबाकर चटाई पर आराम फरमा रहे प्रिंसिपल

इतनी अव्यवस्थाओं के जिम्मेदार प्रधानाचार्य मोहन सिंह स्कूल में खैनी तम्बाकू मुंह में चबाकर ही बैठते हैं और स्टाफरूम में चटाई बिछा कर सो रहे हैं। सोते हुए उनका वीडियो सामने आया है।

प्रिंसिपल ने दी सफाई

प्रधानाचार्य मोहन सिंह ने सफाई देते हुए बताया की एक नई भर्ती का शिक्षक पढ़ाने कक्षा में नहीं जाता है। उससे कहने पर वो जानबूझकर वीडियो बनाता है। इस बात की शिकायत खंड शिक्षा अधिकारी से की जा चुकी है। सब्जियां रोज ताजा आती हैं। दूध में 1 चौथाई पानी मिलाया जाता है। पूरे आगरा में हर स्कूल में ऐसा होता है।

मैं तम्बाकू खाता हूं और यह कोई गुनाह नहीं है। पानी की टंकी 1 दिन कुछ दिक्क्त हुई थी, बच्चे प्यासे थे तो यह व्यवस्था की गई थी। मिड डे मील की गुणवत्ता से शिक्षक, अभिभावक और छात्र सभी संतुष्ट हैं। अभी मुझे कुछ दिन पहले करंट लगा था। तीन दिन छुट्टी के बाद मैं ड्यूटी पर आया तो तबियत खराब होने पर मैं लेट गया था। इसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया गया। ये बातें स्कूल के प्रिंसिपल ने अपनी सफाई में कही हैं। मामले की जानकारी होने पर बीएसए प्रवीण कुमार ने तत्काल जांच कर कार्रवाई की बात कही है।

 

Read More

👉 परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों के 63 हजार पद खाली , देखें विधानसभा ने मंत्री जी ने रिक्त पदों दिया यह जवाब, अधिकारिक नोट देखें

👉UPTET 2022 Notification Today

Leave a Comment

WhatsApp Group Join