DigitalBanking:- बैंक सेवाएं दिन-रात मिलेंगी, प्रधानमंत्री ने डिजिटल बैंकिंग यूनिट की शुरुआत की

DigitalBanking:- बैंक सेवाएं दिन-रात मिलेंगी, प्रधानमंत्री ने डिजिटल बैंकिंग यूनिट की शुरुआत की

 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में रविवार को देश के 75 जिलों में 75 डिजिटल बैंकिंग यूनिट (डीबीयू) की शुरुआत की। इन यूनिट पर दिन-रात साल में सभी दिन बैंक से जुड़ी सभी तरह की सुविधाएं उपलब्ध होंगी।

 

Screenshot 20221017 053906

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आम आदमी के जीवन को आसान बनाने के लिए जो अभियान चल रहा है, डिजिटल बैंकिंग इकाइयां उस दिशा में एक और बड़ा कदम हैं। ये एक ऐसी विशेष बैंकिंग व्यवस्था है जो कम से कम इंफ्रास्ट्रक्चर में अधिक से अधिक सेवा देने का काम करेगी।

 

हर पांच किलोमीटर पर शाखा मोदी ने कहा, हमने समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को ध्यान में रखकर नीतियां बनाईं और पूरी सरकार उसकी सुविधा और प्रगति के रास्ते पर चली। सरकार ने बैंकिग सेवाओं को दूर-सुदूर में घर-घर तक पहुंचाने को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। आज भारत के 99 फीसदी से ज्यादा गांवों में पांच किलोमीटर के अंदर कोई न कोई बैंक शाखा या बैंकिंग मित्र मौजूद है।

 

सरकार का संकल्प प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारा संकल्प व्यवस्थाओं में सुधार का, पारदर्शिता लाने का और आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक पहुंचने का है और हम उसी पर आगे बढ़ रहे हैं।

 

आईएमएफ ने तारीफ की प्रधानमंत्री ने कहा, जब हमने जन-धन खातों की मुहिम शुरू की तब आवाजें उठीं कि गरीब बैंक खाते का क्या करेगा। मगर बैंक खाते की ताकत क्या होती है, ये आज पूरा देश देख रहा है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने भारत की डिजिटल बैंकिंग मुहिम को सराहा है। मोदी ने कहा कि ‘जैम’ यानी जनधन, आधार और मोबाइल की त्रिशक्ति ने मिलकर भ्रष्टाचार का इलाज किया है। प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) स्कीम की ताकत को दुनिया सराह रही है।

 

किसानों को किस्त आज मोदी ने कहा कि सरकार ने बैंकों को गरीबों के घरों तक पहुंचाने की पहल की है। ‘पीएम किसान’ योजना की एक और किस्त सोमवार को खातों में भेजी जाएगी।

 

क्या है डीबीयू

 

डिजिटल बैंकिंग यूनिट (डीबीयू) में बेहद कम इंफ्रास्ट्रक्चर पर अधिक डिजिटल सेवाएं मिलेंगी। यह बैंकिंग के डिजिटल तौर-तरीकों को बढ़ावा देगी। साइबर सुरक्षा के प्रति जागरूक करेंगी।

 

आपको कैसे फायदा होगा

 

जिनके पास कंप्यूटर या स्मार्टफोन नहीं है, उनके लिए डिजिटल बैंकिंग यूनिट मददगार होगी। उन्हें बैंक में कतार में खड़े होने की जरूरत नहीं होगी। बैंकिंग यूनिट में वे अपना काम खुद कर सकेंगे।

 

17 तरह की सेवाएं मिलेंगी

 

डिजिटल बैंकिंग यूनिट सेवा कागजी और अन्य झंझटों से मुक्त होगी। डिजिटल बैंकिंग सेवा पहले से ज्यादा आसान होगी। पैसों के लेनदेन से लेकर शिकायतों के निपटारे तक, कुल 17 सुविधाएं उपलब्ध होंगी।

 

● बचत खाता, सावधि जमा समेत कई तरह के बैंक खाते खोल सकेंगे

 

● खाते की शेष राशि जांच सकेंगे, ग्राहकों को डिजिटल किट मिलेगी

 

● मशीन से नकदी जमा या निकासी

 

● कहीं भी रकम भेजना आसान होगा,

 

● पासबुक खुद ही प्रिंट कर पाएंगे

 

● निवेश करने के विकल्प मिल जाएंगे

 

● कर्ज का लेनदेन किया जा सकेगा

 

● चेक के लिए भुगतान रोकने के निर्देश दे सकेंगे

 

● क्रेडिट,डेबिट कार्ड आवेदन दे सकेंगे

 

● टैक्स और बिल का भुगतान संभव

 

● खातों का केवाईसी खुद कर सकेंगे

 

● शिकायत को डिजिटल रूप से दर्ज करना आसान

 

● अटल पेंशन योजना सहित अन्य योजनाओं का लाभ

Leave a Comment

WhatsApp Group Join