Primary Ka Master

छात्राओं से छेड़खानी के  आरोपी शिक्षक हुआ गिरफ्तार

Screenshot 20220905 091846 1
Written by Ravi Singh

छात्राओं से छेड़खानी के  आरोपी शिक्षक हुआ गिरफ्तार

ठाकुरद्वारा (मुरादाबाद)। छात्राओं से छेड़खानी के आरोपी सरकारी जूनियर हाईस्कूल के शिक्षक को ठाकुरद्वारा पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। वह कहीं भागने की फिराक में था लेकिन सिपाहियों ने उसे पहचान लिया।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण संदीप कुमार मीणा ने बताया कि मुकदमा दर्ज होने के बाद ठाकुरद्वारा पुलिस छेड़खानी के आरोपी शिक्षक इश्तियाक को गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही थी लेकिन वह मोबाइल बंद कर घर से भाग गया था। पुलिस ने इस मामले में उसके परिजनों को पकड़कर पूछताछ की लेकिन मोबाइल बंद होने के कारण उसकी लोकेशन नहीं मिल रही थी। शुक्रवार को सिपाहियों ने उसे जसपुर तिराहे पर जाते हुए देख लिया। इसके बाद थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार सिंह की टीम ने उसे पकड़ लिया। पकड़ा गया आरोपी शिक्षक इश्तियाक सबलपुर गांव का मूल निवासी है।

Screenshot 20220905 091846 1

पूछताछ से पता चला कि आरोपी शिक्षक की दो साल पहले शादी हुई थी। पढ़ने में वह तेज तर्रार था। उसकी आर्थिक स्थिति भी ठीक था पुलिस की गिरफ्त में आने पर वह तरह तरह के बहाने बना रहा था लेकिन पुलिस की सख्ती के आगे, उसकी बहानेबाजी काम नहीं आई।

 

पुलिस ने आरोपी शिक्षक के खिलाफ धारा 354, पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज था। गिरफ्तार आरोपी को पुलिस शनिवार को अदालत के समक्ष पेश करेगी।

ऊधमसिंह नगर में छिपा था आरोपी शिक्षक

मुरादाबाद। ठाकुरद्वारा में गिरफ्तार शिक्षक पुलिस से बचने के लिए ऊधमसिंह नगर जिले के जसपुर में 48 घंटे तक छिपा था लेकिन परिजनों के पकड़े जाने की जानकारी मिलने पर वह उनकी खोज खबर लेने के लिए उत्तराखंड से निकला तो मुरादाबाद पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

 

ठाकुरद्वारा पुलिस की पूछताछ के दौरान शिक्षक इश्तियाक ने बताया कि जसपुर में उसके दूर के रिश्तेदार रहते हैं। वह रिश्तेदार के यहां छिपकर रह रहा था। रिश्तेदारों की मदद से वह परिवार के बारे में जानकारी लेता रहता था। पुलिस जब शिक्षक के परिजनों को पूछताछ के लिए पकड़कर थाने में लाई तो इसकी जानकारी मिलने पर वह परेशान हो गया था। उसने भागने की योजना बनाई थी लेकिन उसे सफलता नहीं मिल सकी। अब उसे जेल की हवा खानी पड़ेगी। इस बारे में पूछने पर एसएसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि पुलिस पीड़ित छात्राओं का मजिस्ट्रेट के

समक्ष धारा 164 के तहत कलमबंद बयान दर्ज कराएगी। छात्राएं खुलकर मजिस्ट्रेट के समक्ष अपनी बातें रख सकती हैं। इसी आधार पर शिक्षक के खिलाफ मुकदमे की धाराएं भी बढ़ाई जाएगी।

About the author

Ravi Singh

Leave a Comment

WhatsApp Group Join